BHAJANS

Stuti

Editorial

shiv lingam poojan

अद्भुत है शिवलिंग की उपासना

शिव की उपासना में जहां रत्नों व मणियों से बने लिंगों की पूजा में अपार वैभव देखने को मिलता है, वहीं मिट्टी से शिवलिंग बनाकर केवल, जल, चावल और बिल्वपत्र अर्पित कर देने व ‘बम-बम भोले’ कहने से ही शिव कृपा सहज ही प्राप्त हो जाती है।
bhagwan shiv maha prasad bhog

क्या भगवान शिव को अर्पित नैवेद्य ग्रहण करना चाहिए ?

सौवर्णे नवरत्नखण्ड रचिते पात्रे घृतं पायसं भक्ष्यं पंचविधं पयोदधियुतं रम्भाफलं पानकम्। शाकानामयुतं जलं रुचिकरं कर्पूरखण्डोज्ज्वलं ताम्बूलं मनसा मया विरचितं भक्त्या प्रभो स्वीकुरु।। (शिवमानसपूजा) अर्थात्—मैंने नवीन रत्नजड़ित सोने के...
Maha Shivratri - shiv ling pooja

भगवान का पेट कब भरता है?

पूजन-कर्म करते समय रखें इस बात का ध्यान